Tuesday, September 22, 2009

हर क्षण









हर मुद्रा देख ली नहीं जाती,






हर शब्द






पढ़ नहीं लिया जाता,






हर झंकार






सुन नहीं ली जाती,






फिर भी






नर्तक, कवि






चित्रकार






रचते हैं






हर क्षण






राजेश दीक्षित नीरव

6 comments:

  1. sundar prastuti...

    *******************************
    प्रत्येक बुधवार सुबह 9.00 बजे बनिए
    चैम्पियन C.M. Quiz में |
    *******************************
    क्रियेटिव मंच

    ReplyDelete
  2. Shubhkamnayen !
    http://shamasansmaran.blogspot.com

    http://kavitasbyshama.blogspot.com

    http://aajtakyahantak-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    http://baagwaanee-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    http://shama-kahanee.blogspot.com
    Bahut khoob kaha...!Phirbhi ek samvaad kee zaroorat mehsoos hotee hai..

    ReplyDelete
  3. चिट्ठा जगत में आपका हार्दिक स्वागत है. सतत लेखन हेतु शुभकामनाएं. जारी रहें.

    ---
    Till 30-09-09 लेखक / लेखिका के रूप में ज्वाइन [उल्टा तीर] - होने वाली एक क्रान्ति!

    ReplyDelete
  4. स्वागत है आपका चिटठा जगत में,आपको मेरी शुभकामनाएं
    यहाँ पर भी आयें
    http://shilpkarkemukhse.blogspot.com
    http://ekloharki.blogspot.com
    http://lalitdotcom.blogspot.com
    http://lalitvani.blogspot.com
    http://adahakegoth.blogspot.com
    http://www.gurturgoth.com

    ReplyDelete
  5. Bahut Barhia... aapka swagat hai... isi tarah likhte rahiye...

    thanx
    http://mithilanews.com



    Please Visit:-
    http://hellomithilaa.blogspot.com
    Mithilak Gap...Maithili Me

    http://mastgaane.blogspot.com
    Manpasand Gaane

    http://muskuraahat.blogspot.com
    Aapke Bheje Photo

    ReplyDelete

मेरा काव्य संग्रह

मेरा काव्य संग्रह

Blog Archive

There was an error in this gadget
Text selection Lock by Hindi Blog Tips

about me

My photo
मुझे फूलों से प्यार है, तितलियों, रंगों, हरियाली और इन शॉर्ट उस सब से प्यार है जिसे हम प्रकृति कहते हैं।